बिहार में मार्च से अगस्त तक 1.71 लाख नए शिक्षकों की भर्ती की जाएगी

बिहार में मार्च से अगस्त तक 1.71 लाख नए शिक्षकों की भर्ती की जाएगी 1

बिहार में शिक्षा के क्षेत्र में एक बड़ी खबर है। मार्च से अगस्त तक करीब 1.71 लाख नए शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। यह भर्ती का प्रक्रिया तीसरे चरण में 71 हजार और चौथे चरण में 1 लाख शिक्षकों को शामिल करेगी। इससे बिहार में शिक्षा क्षेत्र में बड़ा सुधार होने की उम्मीद है।

मार्च से लेकर अगस्त तक प्रदेश में 1.71 लाख शिक्षकों की नियुक्ति के लिए परीक्षा 

बिहार में मार्च से अगस्त तक 1.71 लाख नए शिक्षकों की भर्ती की जाएगी 2

बिहार सरकार ने अभी तक शिक्षा क्षेत्र में कई सुधार किए हैं, लेकिन शिक्षकों की कमी ने इसे पूरी तरह से रोक दिया है। इसलिए, शिक्षा मंत्री ने शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया को तेज करने का फैसला किया है। इससे न केवल शिक्षा क्षेत्र में सुधार होगा, बल्कि युवाओं को रोजगार का भी अवसर मिलेगा।

 चौथे चरण की परीक्षा अगस्त में

बिहार में मार्च से अगस्त तक 1.71 लाख नए शिक्षकों की भर्ती की जाएगी 3

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने कहा कि अगस्त में शिक्षक नियुक्ति परीक्षा का चौथा चरण होगा। इस चौथे चरण में 1 लाख शिक्षकों की नियुक्ति होगी। वे शुक्रवार को शिक्षक व इस पद के अभ्यर्थियों से मुखातिब थे।

इस भर्ती प्रक्रिया के तहत, उम्मीदवारों को विभिन्न पदों के लिए आवेदन करने का मौका मिलेगा। यह भर्ती प्रक्रिया चार चरणों में संपन्न होगी। तीसरे चरण में 71 हजार शिक्षकों की भर्ती होगी, जबकि चौथे चरण में 1 लाख शिक्षकों की भर्ती होगी। इससे बिहार में शिक्षा क्षेत्र में बड़ा बदलाव आएगा और शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होगा।

शिक्षा क्षेत्र में शिक्षकों की कमी का मुद्दा बिहार में लंबे समय से चल रहा है। इसके चलते, छात्रों को उचित शिक्षा सुविधा से वंचित रहना पड़ रहा है। इसलिए, शिक्षा मंत्री ने इस मुद्दे को गंभीरता से लिया है और नए शिक्षकों की भर्ती को प्राथमिकता दी है।

दूसरे चरण की नियुक्ति परीक्षा व पहले चरण की पूरक परीक्षाफल के आधार पर 96 हजार अभ्यर्थी सफल घोषित किए गए। इनमें 76 हजार अभ्यर्थियों ने ही नियुक्ति पत्र लिया। दूसरे चरण में 1.22 लाख रिक्तियां थीं। अगर 1.22 लाख रिक्तियों में नियुक्ति पत्र लेने वाले 76 हजार की संख्या घटा दी जाए तो 46 हजार पदों के खाली रहने की संभावना है। नियुक्ति परीक्षा के दोनों चरणों में 25 हजार नियोजित शिक्षक भी सफल हुए। यानी इतने (25 हजार) और पद खाली हुए। 46 हजार और 25 हजार को जोड़ने से कुल खाली पदों की संख्या 71 हजार होती है

इस भर्ती में सफल होने के लिए, आवेदकों को उचित तैयारी की आवश्यकता होगी। वे अपनी योग्यता के अनुसार अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं। इसके अलावा, उम्मीदवारों को भर्ती प्रक्रिया के बारे में सभी जानकारी प्राप्त करनी चाहिए और आवेदन की अंतिम तिथि का ध्यान रखना चाहिए।

बिहार में मार्च से अगस्त तक 1.71 लाख नए शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। यह भर्ती प्रक्रिया तीसरे चरण में 71 हजार और चौथे चरण में 1 लाख शिक्षकों को शामिल करेगी। इससे बिहार में शिक्षा क्षेत्र में बड़ा बदलाव आएगा और शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होगा। यह भर्ती प्रक्रिया बिहार के युवाओं को रोजगार का अवसर भी प्रदान करेगी।

Related Articles

UPPSC Examination 2024 Apply Online for 220 Post

UPPSC परीक्षा का विस्तृत विज्ञापन दिनांक 01.01.2024 से आयोग की वेबसाइट https://uppsc.up.nic.in पर उपलब्ध रहेगा जिसमें आनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया, शुल्क जमा करने की…

बिहार शिक्षक भर्ती में सिर्फ 3 ही मौके सोच समझ कर भरें फॉर्म

भर्ती में शामिल होने के लिए सभी अभ्यथियों को तीन मौके ही मिलेगे। आगे सरकार इसे बढ़ा सकती है। ऐसे में सोच-समझकर आवेदन करें। यहाँ…

BPSC TRE 3.0 मार्च में हो सकती है भर्ती परीक्षा 65 हजार पदों पर बहाली

नमस्ते दोस्तों! शिक्षक बहाली को लेकर बहुत बड़ी ख़बर । यदि आप एक सरकारी नौकरी की तलाश में हैं और बिहार सरकार में नौकरी करने…

Responses

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सिपाही भर्ती की परीक्षा फिर कराने की कवायद भी शुरु | पंचायतों में 4821 पदों पर होगी भर्ती | रेलवे में NTPC के लिए अगले माह आ सकती हैं भर्ती |